Header Ads

तलाक होने पर गुजारा भत्ता कौन देगा? एसडीएम ज्योति मौर्य या आलोक मौर्य, जानें आसान भाषा में यहां

एसडीएम ज्योति मौर्य और पति आलोक मौर्य के बीच विवाद थमने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। एसडीएम ज्योति मौर्य ने जहां तलाक की अर्जी लगा रखी है वहीं पति आलोक मौर्य बेटी को अपने पास रखने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं।


तो चलिए आज हम बताएंगे कि अगर दोनों पति-पत्नी के बीच तलाक होता है तो गुजरा भत्ता कौन देगा।

गुजारा भत्ता कौन किसे देगा

बता दें कि कानून के मुताबिक यहां दोनों की आय देखी जाएगी। अगर पत्नी और पति अपना खुद का भरण पोषण करने में सक्षम हैं तो दोनों में से किसी को एक दूसरे को गुजारा भत्ता देने की जरूरत नहीं है। क्योंकि गुजारा भत्ता उसी स्थिति में दी जाती है जब महिला कोई काम न कर रही हो। लेकिन यहां ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya SDM) खुद बड़े पद पर तैनात हैं। वहीं आलोक मौर्य भी 14 साल से सरकारी नौकरी कर रहे हैं, ऐसे में उनकी सैलरी भी 40 हजार से अधिक ही होगी। ऐसे में दोनों पति-पत्नी अपना खर्च उठाने में सक्षम हैं। नीचे पढ़िए बेटी की पढ़ाई और भरण पोषण का खर्च कौन उठाएगा। 

बेटी की पढ़ाई और भरण पोषण का खर्च कौन उठाएगा

बता दें कि यह अदालत अपने हिसाब से गौर करेगी कि कि बेटी की पढ़ाई और भरण पोषण का खर्च कौन उठाएगा। हालांकि, कानून के मुताबिक अदालत दोनों पक्ष को खर्च उठाने कह सकती है क्योंकि दोनों सरकारी नौकरी में हैं और अच्छी आमदनी अर्जित कर रहे हैं। हालांकि, एसडीएम ज्योति मौर्य (SDM Jyoti Maurya) के पास दोनों का भरण पोषण सही तरीके से हो सकता है।

तलाक को लेकर 18 अगस्त को हो सकती है अगली सुनवाई

एसडीएम ज्योति मौर्य (SDM Jyoti Maurya) ने एक टीवी चैनल से साक्षात्कार के दौरान कहा कि मैंने फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी लगा रखी है। 18 अगस्त को अगली सुनवाई हो सकती है। मैं वहां अपनी बात रखूंगी। वहीं रिश्वत के आरोप पर ज्योति मौर्य ने जवाब देते हुए कहा कि इस मामले में विभागीय जांच चल रही है। मुझसे उच्च अधिकारी जवाब मांगेंगे तो उसका जवाब दूंगी।

क्या है एसडीएम ज्योति मौर्य का मामला (What is SDM Jyoti Maurya Matter)

बता दें कि एसडीएम ज्योति मौर्य (SDM Jyoti Maurya) के पति आलोक मौर्य ने कमांडेंट मनीष दुबे पर उनका घर उजाड़ने का आरोप लगाया है। आलोक मौर्य का कहना है कि उनकी पत्नी ज्योति मौर्य और उनके तथाकथित प्रेमी मनीष दुबे के बीच अवैध संबंध है। ज्योति मौर्य के पति आलोक मौर्य के अनुसार उन्होंने अपनी पत्नी को कर्ज लेकर PCS की तैयारी कराने भेजा था। ज्योति मौर्य (SDM Jyoti Maurya) ने अच्छी तैयारी की और इस परीक्षा को पास कर एसडीएम बन गई हैं। ज्योति मौर्य को इस परीक्षा में 16 रैंक आई। 2020 तक सबकुछ ठीक ठाक रहा लेकिन 2020 के बाद ज्योति मौर्य, मनीष दुबे के संपर्क में आ गईं। फिर दोनों के बीच बातचीत होते-होते अफेयर चलने लगा। इस बात की जानकारी 2022 में उन्हें लगी जब आलोक ने दोनों को होटल में रंगे हाथों पकड़ा था।

By Sanjeev Kumar Oneindia

source: oneindia.com


No comments

Powered by Blogger.