Header Ads

'सरेंडर कर दो अच्छा होगा, पकड़कर लाऊंगा तो खैर नहीं...' नूंह हिंसा पर पुलिस का आरोपियों को अल्टीमेटम

नूह हिंसा के बाद हरियाणा सरकार एक्शन में नजर आ रही है। हिंसा में शामिल दंगाइयों पर बुलडोजर एक्शन लिया जा रहा है। वहीं नूंह एसपी नरेंद्र बिजारणिया ने 6 अगस्त को सरपंचों के साथ एक बैठक में कहा कि जिन लोगों के नाम एफआईआर में है वो लोग सरेंडर कर दें, नहीं तो हम खुद उन्हें खोज निकालेंगे।


एसपी ने कहा कि हाजिर न होने वाले आरोपियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा।

स्टोरी में आगे पढ़ें:

  • नूंह एसपी ने का आरोपियों को अल्टीमेटम
  • नूंह एसपी ने क्या कहा?
  • मैं पकड़कर लाया तो करूंगा ट्रीटमेंट- नूंह एसपी

मैंने पकड़ा तो किसी को नहीं छोड़ूंगा- SP

नंहू एसपी बिजारणिया ने बैठक में कहा कि जिन लोगों के नाम हिंसा में आए हैं, जिनके नाम FIR में हैं, वो सरेंडर कर दें, नहीं तो सख्त एक्शन लिया जाएगा। सरपंचों के साथ एक बैठक में उन्होंने कहा कि सबको पता है कि हिंसा में कौन-कौन से गांव के लड़के थे। उन्हें कान पकड़कर ले आओ क्योंकि मैं लाऊंगा अपनी मर्जी से तो एक को भी नहीं छोड़ूंगा। सबके फोटो वीडियो मेरे पास हैं।

निर्दोष पर नहीं होगी कार्रवाई- नूंह एसपी

एसपी ने कहा कि मुझे क्यों न मेवात का एसपी आगे कई सालों तक रहना न पड़ जाए। इस मामले को मैं देख रहा हूं, पुराने मामलों की तरह इसे भी हल करके रहूंगा। उन्होंने लोगों को विश्वास दिलाते हुए कहा, "एक तरफा कार्रवाई नहीं होगी, किसी निर्दोष पर कार्रवाई नहीं की जाएगी। इसकी गारंटी देता हूं। जो निर्दोष हैं, वो घर पर चैन से रहें, अपना काम करें। दोषी आदमी का फरार होना ठीक है, वो कोर्ट में सरेंडर कर दे, थाने में कर दे लेकिन मैं पकड़कर लाऊंगा तो ट्रीटमेंट करुंगा।"

नूंह एसपी नरेंद्र बिजारणिया ने 6 अगस्त को जानकारी दी, "जिलाधिकारी और मैंने ब्लॉक स्तर पर एक बैठक की है। सरपंचों को भी जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं कि गांवों में मनमुटाव को कम किया जाए। अब तक 56 FIR दर्ज की गई हैं और लगभग 150 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

नूह की हिंसा का अल्टीमेट

हाल ही में हुआ तबादला

गौरतलब है कि नरेंद्र बिजारणिया को हाल ही में नूंह का एसपी बनाया गया है। इससे पहले 31 जुलाई की हिंसा के बाद वरुण सिंगला का नूंह एसपी पद से ट्रांसफर कर दिया गया था। खबर है कि जिस दिन हिंसा हुई वो छुट्‌टी पर थे। अब उन्हें अब भिवानी जिले का चार्ज दिया गया है।

बता दें कि 31 जुलाई को नूंह ब्रज मंडल जलाभिषेक यात्रा के दौरान हिंसा देखी गई। यात्रा में शामिल लोगों पर पथराव और गोलीबारी की गई। वहीं कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया दिया। इस हिंसा में 6 लोगों की मौत हुई है।

No comments

Powered by Blogger.