Header Ads

राजस्थान में मानसून को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया बड़ा अपडेट, क्या कमजोर पड़ेगा मानसून ?

राजस्थान में इस बार मानसून ने अपने पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए जमकर बारिश की है. कई जिलों में सामान्य से ज्यादा बारिश देखने को मिली है, जिससे अब तक बारिश का कोटा लगभग पूरा हो चुका है। दक्षिण-पश्चिम मानसून जून और जुलाई के महीनों में बारिश से नदियों और तालाबों को भर देता है। 
हालांकि मौसम विभाग की ताजा जानकारी के मुताबिक अगले दो महीने तक सामान्य से कम बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने मॉनसून को लेकर ताजा अपडेट देते हुए कहा कि अगस्त और सितंबर महीने में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के कमजोर पड़ने से राजस्थान में कम बारिश होने की संभावना है. विभाग के मुताबिक अगले दो महीनों में राज्य में भारी बारिश देखने को नहीं मिलेगी, जिससे आंकड़ा सामान्य से कम रह सकता है. हालांकि, जून और जुलाई के महीने में राज्य बारिश से पूरी तरह भीग चुका है। अगले दो महीने तक सामान्य से कम बारिश भारतीय मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मानसून के अगले चरण में अगले दो महीने अगस्त और सितंबर में बारिश सामान्य से कम होगी. हालांकि मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, उत्तर-पूर्वी भारत के कुछ राज्यों में सामान्य या इससे ज्यादा बारिश हो सकती है, लेकिन राजस्थान में यह आंकड़ा सामान्य से नीचे रहेगा। वहीं अगस्त महीने में देशभर में मॉनसून की स्थिति सामान्य रहने की संभावना है। राजस्थान में अब तक सामान्य से ज्यादा बारिश आपको बता दें कि इस बार राजस्थान में बारिश ने जमकर कहर बरपाया है, जिसके चलते यहां सामान्य से ज्यादा बारिश देखने को मिली है. राज्य में सामान्य बारिश का आंकड़ा 161 मिमी है, जो इस बार 228 मिमी तक पहुंच गया है. यह सामान्य से करीब 45 फीसदी ज्यादा रहा है. इस दौरान पिछले दो महीनों के भीतर पूर्वी राजस्थान में करीब 20 फीसदी और पश्चिमी राजस्थान में करीब 75 फीसदी ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. पश्चिमी राजस्थान में बारिश में कमी आएगी मौसम विभाग के मुताबिक, अगले दो महीनों में पश्चिमी राजस्थान के कई जिलों में बारिश में कमी आएगी, जिससे दक्षिण-पश्चिम मानसून पर लगाम लगेगी. कुछ जिलों में हल्की बारिश दर्ज की जा सकती है. वहीं पूर्वी राजस्थान में सामान्य तौर पर बारिश देखने को मिल सकती हैं।

No comments

Powered by Blogger.