Header Ads

11 साल के दिव्यांश को मारकर किसने किया था कॉल ? की मैंने तुम्हारी सबसे कीमती चीज तुमसे छीन ली...'

नई दिल्ली के इंद्रपुरी इलाके में हुए 11 साल के दिव्यांश उर्फ बिट्टू मर्डर केस में नया खुलासा हुआ है. कातिल पूजा ने दिव्यांश के पिता यानी अपने बॉयफ्रेंड जितेंद्र को कॉल करके कहा था- "मैंने तुम्हारी सबसे कीमती चीज तुमसे छीन ली..''


करीब 300 CCTV कैमरे और 3 दिन की कड़ी मेहनत के बाद 11 साल के मासूम की कातिल युवती पूजा पकड़ी गई थी. 11 साल के दिव्यांश की बीते दिनों गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी. आरोपी पूजा ने हत्या के बाद मासूम के शव को घर के बेड में ही छिपा दिया था।


पूछताछ में आरोपी पूजा ने पुलिस को बताया कि बेवफाई से नाराज होकर उसने शादीशुदा प्रेमी जितेंद्र के मासूम बेटे की हत्या की. वह मृतक दिव्यांश के पिता जितेंद्र के साथ साल 2019 से लिव-इन रिलेशनशिप में थी. जितेंद्र ने अपनी पत्नी को तलाक देकर पूजा से शादी का वादा किया था. लेकिन जितेंद्र साल 2022 में पूजा को छोड़कर वापस अपनी पत्नी और बेटे दिव्यांश के साथ रहने लगा था।

दिव्यांश के मर्डर की आरोपी युवती पूजा।

आर्य समाज मंदिर में की थी शादी

कथित तौर पर, पूजा कुमारी और जितेंद्र ने 17 अक्टूबर, 2019 को आर्य समाज के एक मंदिर में शादी की थी, लेकिन कोर्ट मैरिज संभव नहीं थी, क्योंकि जितेंद्र ने अपनी पत्नी को तलाक नहीं दिया था.

पुलिस के मुताबिक, जितेंद्र ने पूजा कुमारी को आश्वासन दिया था कि वह अपनी पत्नी से तलाक लेने के बाद कोर्ट में शादी करेगा. हालांकि, जितेंद्र और पूजा कुमारी एक मकान किराए पर लेकर एक साथ रहने लगे. पुलिस ने कहा कि दोनों के बीच अक्सर जितेंद्र के तलाक को लेकर झगड़े होते थे।

प्रेमी को सबक सिखाने के लिए बेटे की हत्या

इस बात को लेकर पूजा अपने प्रेमी जितेंद्र से नाराज थी और उसे सबक सिखाना चाहती थी. पूजा को लगता था कि जितेंद्र ने अपने बेटे दिव्यांश के कारण उससे शादी के लिए इनकार कर दिया. वो दिव्यांश को जितेंद्र और खुद के बीच का कांटा मानने लगी थी।

बेड में छिपाई लाश

पूजा ने 10 अगस्त को एक कॉमन फ्रेंड से इंद्रपुरी में जितेंद्र के घर का पता पूछा और जब वहां पहुंची तो घर का दरवाजा खुला था. मासूम दिव्यांश बेड पर सो रहा था और घर में कोई नहीं था, तभी पूजा ने गला घोंटकर मासूम की जान ले ली और उसी बेड में लाश को छिपाकर भाग गई।


- घर में घुसी, गला घोंटा और बेड में छिपाया शव...

पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की मदद से पूजा की पहचान की. उसके बाद पूजा को ट्रेस करने के लिए नजफगढ़-नागलोई रोड पर रणहौला, निहाल विहार और रिशल गार्डन इलाके के करीब 300 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला. तब कहीं जाकर 3 दिन की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी पूजा को बक्करवाला इलाके से गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तारी के बाद पूजा ने अपना गुनाह कबूल कर लिया।


No comments

Powered by Blogger.