Header Ads

सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न, तटबंध टूटे; आज यहां होगी बारिश

राजस्थान में बारिश का दौर जारी है। घग्घर नदीं में हरियाणा से आ रहे पानी का दबाव अब श्रीगंगानगर जिले में घग्घर बहाव वाले क्षेत्र पर पड़ने लगा है। बहाव क्षेत्र में जल स्तर बढ़ने से कई जगह तटबंध टूट गए है।
जिससे सैकड़ों बीघा में खड़ी फसल जलमग्न हो गई है। मौसम विभाग ने आज प्रदेश के 19 जिलों में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। जबकि झुंझुनूं, चूरू और हनुमानगढ़ में अति भारी बारिश का आरेंज अलर्ट जारी किया है। पिछले 24 घंटे के दौरान बाड़मेर में 2.8 इंच बरसात हुई है। जमकर बरसात होने से सड़के दरिया बन गई है। कई घरों और कालोनियों में पानी घुस गया है। बाड़मेर के अलावा अजमेर, जैसलमेर, उदयपुर, जालौर, सिरोही और श्रीगंगानगर में जमकर बारिश हुई है। सैकड़ों बीघा में खड़ी फसल जलमग्न घग्घर नदी में हरियाणा से आ रहे पानी का दबाव अब श्रीगंगानगर जिले में घग्घर बहाव क्षेत्र पर पड़ने लगा है। बहाव क्षेत्र में जल स्तर बढ़ने से मंगलवार को कई जगह तटबंध टूट गए, जिससे सैकड़ों बीघा में खड़ी फसल जलमग्न हो गई। किसानों ने बंधों में आए कटाव पाट दिए, लेकिन खतरा लगातार बना हुआ है। जल संसाधन विभाग उत्तर क्षेत्र के मुख्य अभियंता अमरजीत मेहरड़ा ने बताया कि ओटू बांध से पानी की आवक कम होने से हनुमानगढ़ जिले में बाढ़ का खतरा कम हुआ है। लेकिन वहां बहाव क्षेत्र में आया पानी अब नीचे श्रीगंगानगर जिले की ओर जा रहा है। यह पानी श्रीगंगानगर जिले में 100 किलोमीटर लंबे घग्घर बहाव क्षेत्र में बहता हुआ भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार कर पाकिस्तान जाएगा। बिजली गिरने से 41 भेड़-बकरियों की मौत बीकानेर के कोलायत तहसील के बीठनोक गांव की रोही में आकाशीय बिजली गिरने से 41 मवेशियों की मौत हो गई। बीठनोक निवासी विजयसिंह मंगलवार को रोही में अपनी भेड़- बकरियों को चराने के लिए गया था। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे बारिश होने लगी। वह एक जगह ठहर गया, जबकि भेड़-बकरियां पेड़ के नीचे खड़ी थीं, तभी आकाशीय बिजली गिरी, जिससे 41 भेड़-बकरियों की मौत हो गई।

No comments

Powered by Blogger.