Header Ads

भारी बारिश ने मचाया कोहराम, सड़कें जलमग्न, नाले उफने, चारों तरफ पानी ही पानी

राजस्थान रातभर रुक-रुककर बारिश का सिलसिला चलता रहा. सोमवार को सुबह करीब आठ बजे फिर से बारिश शुरू हुई. वह दोपहर 12 बजे तक चलती रही. 


इससे शहर की सड़कों पर पानी का सैलाब बहने लग गया.जयपुर में लगातार हो रही बारिश को देखते हुए स्कूलों ने बच्चों को जल्दी घर ले जाने के मैसेज भेजने शुरू कर दिए. बारिश से जयपुर शहर का कोई भीतरी और बाहरी भाग ऐसा नहीं बचा जहां पानी का सैलाब नहीं आया हो. लगातार बारिश से जयपुर की मुख्य सीकर रोड फिर से पानी में डूब गई. इस रोड़ पर बीते साल भी यही हालात थे. 


आज भी वही स्थिति है. यहां पूरी सड़क पर दो से तीन फीट पानी भर गया और वाहन उसमें फंसकर रह गए.जयपुर के भीतरी बाजार में तीन से चार फीट तक पानी चढ़ गया. जौहरी बाजार, इंदिरा बाजार और चौड़ा रास्ता बाजार समेत अन्य बाजारों में सड़कों एकत्र हुआ पानी डराने लग गया. ठेले वालों को मजबूरी में ठेले पानी में ही छोड़कर अयंत्र शरण लेनी पड़ी.जयपुर शहर के बाहरी इलाकों में भी सड़कों पर पानी का सैलाब देखकर लोग कांप उठे. हालात ये हो गए कि महज तीन से चार घंटे की बारिश में पूरा जयपुर शहर एक दरिया जैसा हो गया और बारिश थमने की कामना करने लगे. बारिश के कारण गुलाबीनगरी के बिगड़े हालात पर लोग आक्रोशित तो नजर आए लेकिन फिर वे मनमसोस कर रह गए. बारिश के कारण शहर में जगह-जगह ही वाटर लॉगिंग के कारण ट्रैफिक थम गया. कई लोग वाहनों को पैदल घसीटते हुए भी नजर आए. वहीं सावन का पहला सोमवार होने के कारण शिवालय में भक्तों की भीड़ लगी थी। कई शिवालयों में श्रद्धालु बारिश के बीच भजन करते हुए नाचते हुए नजर आए.

No comments

Powered by Blogger.